Loading...
Desi Nuskhe

आयुर्वेद के अनुसार सर्दी,खाँसी के घरेलु नुस्खे

सर्दियों के मौसम में जुकाम के अलावा खांसी से आपके स्वास्थ्य को कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है । इनका इलाज करने के लिए एलोपैथिक दवाओं की मदद लेने से पहले उन दवाइयों के दुष्प्रभाव उपेक्षित नहीं किये जा सकते। इसके बजाय ऐसे बहुत सारे प्राकृतिक घरेलू उपचार हैं जो बिना किसी अवांछित दुष्प्रभावों के आपका उपचार करते हैं | रसोईघर में उपलब्ध कुछ ऐसी दवाइयां यहाँ सूचीबद्ध की गयी हैं।

Loading...

सर्दी और खांसी के लिए दूध और हल्दी (The effective mixture of milk and turmeric)

Loading...

दूध और हल्दी सर्दी और खांसी के सबसे असरदार इलाजों में से एक है। इसके लिए दूध को गर्म करें और इसमें हल्दी का पाउडर मिश्रित करें। यह खांसी का भी रामबाण इलाज साबित होता है। यह मिश्रण ना सिर्फ वयस्कों, बल्कि बच्चों के लिए भी काफी फायदेमंद साबित होता है। सर्दी खांसी के अलावा सामान्य स्वास्थ्य बरक़रार रखने के लिए भी यह मिश्रण काफी असरदार साबित होता है। अतः जब भी आप अस्वस्थ महसूस करें तो इस मिश्रण का रोजाना सेवन करके अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त करें।

loading...

सर्दी खांसी के लिए शहद, दालचीनी और नींबू का मिश्रण (The combination of honey cinnamon and lemon)

यह भी सर्दी खांसी दूर करने की एक प्रभावी औषधि है। आप इन तीनों तत्वों को मिश्रित करके एक सिरप (syrup) बना सकते हैं। इससे आपको सामान्य सर्दी और खांसी से लड़ने में काफी आसानी हो जाएगी। इस सिरप को बनाने के लिए एक सबसे पहले एक कढ़ाही लें और इसमें थोड़ा सा शहद डालें। शहद को तब तक डालते रहें जब तक कि आधी कढ़ाही भर ना जाए। इसके बाद एक डबल बायलर (double boiler) का प्रयोग करें और शहद को पतला बनाने का प्रयास करें। इसमें थोड़ा सा नींबू और एक चुटकी दालचीनी मिलाएं। इस सिरप का सेवन अपने बच्चे को करवाएं तथा उसे सर्दी खांसी और ज़ुकाम से बचाकर रखें।

सर्दी का इलाज के लिए ब्रांडी और शहद (Brandy and honey together)

सामान्य सर्दी और खांसी से लड़ने के लिए आप शहद और ब्रांडी का भी प्रयोग कर सकते हैं। ब्रांडी से आपकी छाती गर्म रहती है और इससे शरीर के ताप को बढाने में भी काफी मदद मिलती है। इसी के साथ साथ, शहद में कफ से लड़ने के प्राकृतिक गुण मौजूद होते हैं। अतः जब यह ब्रांडी के साथ मिश्रित हो जाती है तो इसका प्रभाव काफी अच्छा होता है। इस मिश्रण की मदद से आप आसानी से सर्दी और ज़ुकाम से प्रभावी रूप से निपट सकते हैं।

loading...

खांसी का इलाज के लिए आंवला (Amla can be extremely beneficial)

आंवले को इम्यूनोमोड्यूलेटर (immunomodulator) कहा जाता है और यह आपको कई प्रकार की बीमारियों से ग्रसित होने से बचाता है। आंवले में विटामिन सी (Vitamin C) की काफी मात्रा होती है और यही कारण है कि यह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है। जब आप आंवले का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो आपका लिवर (liver) अच्छे से कार्य करता है और इससे आपके रक्त का संचार भी काफी अच्छे से होता है। आंवला आपकी प्रतिरोधक क्षमता को काफी मज़बूत कर देता है और यही कारण है कि आपको इसका सेवन रोज़ करना चाहिए। यह सामान्य कफ और ठण्ड से लड़ने का काफी प्रभावी तरीका है।

सर्दी खांसी के लिए शहद, गर्म पानी और नींबू के रस का मिश्रण

शहद, नींबू के रस तथा गर्म पानी का मिश्रण सामान्य सर्दी और खांसी की समस्या को दूर करने का काफी अच्छा उपाय है। आप नींबू पानी का सेवन करके अपना हाजमा भी दुरुस्त कर सकते हैं। यह शरीर के रक्त संचार के लिए भी काफी प्रभावी साबित होता है। जब आप शहद और नींबू पानी को आपस में मिलाते हैं, तो इस समय पानी गर्म होना चाहिए। इससे सर्दी और खांसी के समय काफी आराम प्राप्त होता है। ये वैसे पदार्थ हैं, जो आपकी समस्या का निदान करने में सक्षम हैं।

सर्दी खांसी के लिए पटसन के बीज

पटसन के बीज के प्रयोग से भी आपकी सर्दी खांसी की समस्या का निदान अच्छे से हो सकता है। इसके लिए सबसे पहले पटसन के बीजों को उबाल लें तथा एक बार मिश्रण गाढा बन जाने पर इसे छान लें। अब इसमें शहद और नींबू का रस मिश्रित करें। आप इस मिश्रण का सेवन सर्दी और खांसी को दूर भगाने के लिए कर सकते हैं। आप इस मिश्रण में और भी तत्व मिला सकते हैं और ये सारी चीज़ें आपको रसोई में ही प्राप्त हो जाएंगी।

सर्दी खांसी के लिए अदरक (Ginger is the best health preserver – sardi khansi ka gharelu ilaj)

अदरक को दूसरे पदार्थों के साथ मिलाने के अलावा आप एक आसान प्रक्रिया भी अपना सकते हैं। इसके लिए अदरक के कुछ टुकड़े करें और इन्हें अच्छे से नमक के साथ मिलाएं। जब भी आपको अपने गले में खराश महसूस हो तो अदरक चबाना शुरू कर दें। अदरक, ठण्ड और गले में सूजन से निपटने का रामबाण इलाज साबित होता है।

तुलसी, अदरक और काली मिर्च की चाय (The tea of tulsi ginger and black pepper)

सर्दी ज़ुकाम का शिकार होने पर आप अपने लिए मसालेदार चाय भी बना सकते हैं। इस चाय को बनाने के लिए इसमें तुलसी, अदरक और काली मिर्च डालें। ये तत्व इतने प्रभावी हैं कि इनके सेवन मात्र से आपको अंदर से काफी आराम मिलने लगेगा। इन तत्वों को चाय के साथ मिश्रित करने पर सर्दी और खांसी की समस्या से निजात मिलती है और इस तरह आपको आराम प्राप्त होता है।

अदरक, तुलसी और शहद (The magic of ginger tulsi and honey)

अदरक और तुलसी का मिश्रण सर्दी और ज़ुकाम से लड़ने में सहायक साबित होता है। सबसे पहले तुलसी की पत्तियों को पीस लें और इसमें अदरक का रस मिलाएं। इस मिश्रण को बेहतर बनाने एक लिए इसमें शहद का भी मिश्रण किया जा सकता है। खांसी से छुटकारा दिलाने में यह मिश्रण काफी बढ़िया काम करता है। अदरक का रस और तुलसी के अंश स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छे होते हैं और यही कारण है कि इनके सेवन से आप स्वस्थ रह सकते हैं।

खांसी का घरेलू उपाय – लहसुन (The sautés of garlic is good for health)

सर्दी और खांसी से जूझते समय लहसुन भी आपके लिए काफी लाभदायक सिद्ध होता है। इसके लिए लहसुन को हलके से तल लें। इसके बाद इन्हें घी में गर्म कर लें। हालांकि इनका स्वाद निश्चित रूप से कड़वा होगा और ज़्यादातर समय इसका स्वाद अच्छा नहीं होता। लेकिन लहसुन के ये अंश स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छे होते हैं, खासकर तब जब आप सर्दी और खांसी से जूझ रहे हों। अतः इनका सेवन करें और स्वस्थ रहें।

सर्दी जुकाम का घरेलू उपचार – गुड़ (Jaggery is a sure cure)

आपके लिए यह जानना काफी दिलचस्प होगा कि गुड़ सर्दी और खांसी की समस्या को दूर करने में आपकी मदद करता है। हालांकि इस मिश्रण को बनाने के लिए आपको पानी उबालना होगा और इसमें काली मिर्च, जीरा और गुड़ का मिश्रण करना होगा। छाती में जमे कफ को निकालने के लिए यह मिश्रण श्रेष्ठ है। यह सर्दी और खांसी का भी काफी अच्छा उपचार है। अतः जब आपको यह पता चले कि आपका बच्चा लगातार बहती नाक से परेशान है तो आप इस मिश्रण का इस्तेमाल करके उसे सर्दी और खांसी की समस्या से दूर रख सकते हैं।

गाजर (Carrot is a common cold and cough fighter)

ज़्यादातर लोग इस बात को नहीं जानते, पर यह सच है कि गाजर का रस सर्दी और खांसी की समस्याओं को दूर करने में पूरी तरह सक्षम है। यह थोड़ा अजीब अवश्य लग सकता है, पर यह रस स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। यह बात भी ज़्यादा लोग नहीं जानते कि गाजर के रस से सर्दी खांसी दूर होती है। हालांकि इस रस के प्राकृतिक गुण आपको स्वस्थ रहने और साथ ही साथ अपनी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में काफी मदद करते हैं।

सर्दी खांसी के उपाय – हर्बल चाय (The herbal tea is a remedy)

अगर आप सर्दी और खांसी से दूर रहना चाहते हैं तो हर्बल चाय का सेवन करें। ये ख़ास हर्बल पेड़ की पत्तियां होती हैं और इनमें सर्दी और खांसी से लड़ने के सारे गुण मौजूद होते हैं। इन पत्तियों में कई औषधीय गुण होते हैं  और ये सर्दी और खांसी से आपको मुक्ति दिलाते हैं। यही कारण है कि एक बार जब आपको पता चले कि आप गंभीर सर्दी खांसी के शिकार हैं तो इस चाय का सेवन अवश्य करें।

इस चाय को आप कई तरीकों  से बनाकर अपनी समस्याओं को दूर कर सकते हैं। सबसे पहले इस चाय में तुलसी की पत्तियां डालें। एक बार तुलसी की पत्तियों के साथ चाय को उबाल लेने के बाद इसमें नीम्बू के रस की कुछ बूँदें मिश्रित करें और इसे स्वास्थ्य बरकरार रखने के लिए पिएं। आप इस चाय में दालचीनी, लहसुन के फाहे, काली मिर्च और ताज़ी कटी अदरक भी मिश्रित करके इसका सेवन कर सकते हैं। इस मिश्रण को कम आंच में उबालें और साथ ही साथ इसे ढककर भी रखें। इससे इन पदार्थों की पौष्टिकता बनी रहेगी। चाय पीते समय आप इसमें शहद या दूध का मिश्रण भी कर सकते हैं।

घरेलू लॉज़न्ज (The goodness of homemade lozenges)

आप घर पर ही औषधीय लॉज़न्ज बना सकते हैं। ये काफी प्रभावी होते हैं और सर्दी एवं खांसी की समस्या से आपको बचाए रखते हैं। इनसे चिड़चिड़ापन कम होता है और गले को भी काफी आराम मिलता है। इसे बनाने के लिए काली मिर्च, अदरक, इलायची, शहद आदि तत्व इकठ्ठा करें। इन सबका अच्छे से मिश्रण करें और एक गाढ़ा पेस्ट तैयार करें। अब इसे ठंडा और कड़ा होने दें, इसे एक आकार दें और फिर इसका लॉज़न्ज की शक्ल में प्रयोग करें। अब इन्हें मुंह में डालें और तब तक रखें, जब तक कि इसका रस गले में नहीं चला जाता और आपको राहत प्राप्त नहीं हो जाती।

गीले मोज़े (Wet socks can cure cold and cough)

यह बात सही है कि अगर आप गीले मोज़े पहनकर सोने जाएँ तो इससे आपके पैरों में रक्त का संचार होता है और आप स्वस्थ और गर्म रहते हैं, जिसके फलस्वरूप आपकी सर्दी और खांसी भी दूर हो जाती है। यह रक्त का संचार बढ़ाने का काफी अच्छा तरीका है और इसके प्रयोग के बाद सुबह उठकर आप बिलकुल स्वस्थ महसूस करते हैं। इसके लिए सूखे ऊन के मोज़े लें, इन्हें गर्म पानी में डुबोएं और तुरंत पहन लें। इसके बाद इसे पहनकर सोने चले जाएँ। इससे आपको काफी आराम मिलेगा और आपकी नाक भी बार बार बंद नहीं होगी।

सरसों से पैर धोना (Mustard foot bath can be a remedy)

सर्दी और खांसी से निजात पाने के लिए अपने पैरों को आप सरसों के स्नान का अनुभव भी करवा सकते हैं। इसके लिए एक पात्र में पानी लें और इसमें एक चम्मच सरसों का पाउडर मिलाएं। इसे एक लीटर गर्म पानी में मिश्रित किया जाना काफी आवश्यक है। सरसों पैर में रक्त के संचार में सहायक होता है और इससे नाक बंद होने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है।

सर्दी जुकाम और खांसी – भाप लेना (Steam breathing can help you have relief)

अगर आप सर्दी खांसी की समस्या से जूझ रहे हैं तो इसके अंतर्गत नाक भी बंद हो जाती है। अतः इस समय भाप लेते रहें। इसके लिए एक बड़े पात्र में गर्म उबलता पानी लें और और अपने सिर को एक बड़े तौलिए से ढक लें। अब धीरे धीरे भाप लेते रहें। इस प्रक्रिया के पालन से आपकी नाक पूरी तरह खुल जाएगी और आपको साँस लेने में कोई तकलीफ नहीं होगी। इससे आपको सर्दी और खांसी की समस्या होने की भी काफी कम संभावनाएं होंगी।

सर्दी जुकाम का घरेलू /देसी इलाज  (sardi jukam ka gharelu /desi ilaj in hindi)

  • हल्दी, अदरक की पाउडर और 1 बड़ा चम्मच शहद मिलाकर खाएं। यह खांसी के इलाज के साथ साथ शरीर दर्द और सिर दर्द से राहत दिलाता है।
  • गरम पानी की भाप सूंघना भी जुकाम का इलाज करने में मदद करता है।
  • गरम पानी में १ चुटकी नमक मिलाकर गरारा करने से गले का दर्द कम होता है।
  • दिनभर गरम चाय, कॉफ़ी या गुनगुना पानी पीते रहें।
  • चाय बनाते समय उसमे तुलसी के पत्ते, अदरक और काली मिर्च डालें। यह चाय जुकाम और खांसी से राहत दिलाती है|
  • जिन लोगों को सर्दियों में हमेशा जुकाम होता है उन्हें च्यवनप्राश या आँवले का मुरब्बा खाना जरुरी है। इनमे विटामिन सी की अधिक मात्रा होती है जो जुकाम और खांसी से लड़ने की ताकत देती है।

loading...

Loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top
Close