1- योनी(yoni woman) को स्वस्थ रखने में दही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है | दही में ऐसे बेक्टिरिया पाए जाते जो योनी (yoni woman)को स्वस्थ रखता है दही का सेवन रोजाना के भोजन में करना चाहिए।यह यीस्ट इन्फेक्शन से हमें बचता है |

2-  शरीर में से विषैले तत्व को बाहर निकालने के  लिए  पाइनेपल , संतरा , स्ट्राबेरी , नींबू की शिकंजी आदि का  सेवन करना चाहिए |विषैले तत्व के वाहर निकलने से योनी(women yoni) की बदबू कम होती है |

3-यीस्ट इन्ग्फेक्शन होने पर लहसुन का उपयोग करने से योनी(female yoni) की यीस्ट इन्ग्फेक्शन के वाक्टिरिया नस्ट होते है और योनी(female yoni) के बदबू भी कम होती है |

4-  योनी (yoni )में खुजली या जलन होने पर नीम की पत्तियों को पानी में उबाल  कर उस  पानी से योनि को धोने से खुजली व जलन में मिट जाता है।

5-योनी (yoni )में खुजली होने पर नारियल के तेल में कपूर मिलाकर योनी (yoni ) में लगाने से खुजली मिट जाती है |

6-एरंड का तेल लगाने से योनी (yoni ) की  खुजली व जलन मिटती है।


7-योनी (yoni ) में खुजली हो तो पानी में फिटकरी को पीस कर दो तीन बार धोने से खुजली ख़त्म हो जाती है।

8-खीरा , ककड़ी , तरबूज और खरबूज के बीज पीस कर गुलकंद के साथ सुबह शाम कुछ दिन खाने से योनि (yoni )की में होने वाली जलनठीक हो जाती है।

9-योनि (yoni ) के बाहरी हिस्से पर फुंसी हो जाये है और उससे खुजली होने लगे तो नीम का तेल लगाने से फुंसी नस्ट हो जाती है और खुजली भी ठीक हो जाति है |

10- यौन सम्बन्ध अधिक करने से योनि (yoni )में जलन हो सकती है। यदि ऐसा हो तो कुछ दिन यौन सम्बन्ध नहीं करना चाहिए।

11-गर्म तासीर या पित्त बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ ज्यादा उपयोग करने से योनि (yoni )में जलन होने लगती है। ऐसे पदार्थ कुछ समय ना लें।

गुदा की सफाई-Guda ki safai-Yoni khaj khujli jalan soojan gharelu upay

1- गुदा और योनि (yoni ) पास  पास होने के कारण गुदा के बेक्टिरिया के कारण योनि (yoni )में संक्रमण की बहुत ज्यादा संभावना होती है। इसलिए ध्यान रखना चाहिए।

2- मलत्याग के बाद मल को पीछे से आगे की तरफ न पोछकर आगे से पीछे की तरफ पोछना चाहिए अगर आप ऐसा नही करेंगी तो मल के वैक्टीरिया योनी (yoni )में पर्वेश कर जायगे  टॉयलेट पेपर बिना  कैमिकल के सादा  पेपर का  पर्योग करना चाहिए |

3- पानी से धोने के लिए भी हैंड शावर का  पानी आगे से पीछे की तरफ जाना चाहिए ना कि पीछे से आगे की तरफ। अन्यथा पानी के साथ गुदा के बेक्टिरिया योनि (yoni ) तक पहुँच कर नुकसान पहुंचा सकते है।Yoni khaj khujli jalan soojan gharelu upay in hindi,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here