न्यूयॉर्क सिटी के मेट्रो में काम करने वाले लोग परेशान हैं। उन्होंने आरोप लगया है कि उनके लिए बनाए गए बाथरूम और रेस्टरूम में लाशें रखी जाती हैं।

कर्मियों का कहना है कि जब भी स्टेशन पर किसी की मौत होती है या कोई खुदकुशी करता है तो फौरन उसकी लाश को पास में मौजूद कमरे में रख दिया जाता है, फिर चाहें उस कमरे में कर्मी खाना ही क्यो न खाते हों!

अधिकारियों का कहना है कि घटना के बाद जल्द से जल्द यातायात बहाल करने के लिए ऐसा किया जाता है। लाश की शिनाख्त करने और मेडिकल एक्सपर्ट द्वारा प्रारंभिक जांच के बाद ही शव को स्टेशन से बाहर ले जाया जाता है। इस प्रक्रिया में 2-3 घंटे लग जाते हैं। ऐसे में लाश को प्लेटफॉर्म या पब्लिक एरिया से हटाना जरूरी है। अगर लाश मेट्रो के ट्रैक या प्लेटफॉर्म पर पड़ी रहेगी तो जाहिर है परिचालन घंटों बाधित होगा।

कर्मियों की नाराजगी इस बात को लेकर भी है कि अगर लाश को वहां से हटा भी लिया जाता है तो भी उनके कमरे या बाथरूम की अच्छे से सफाई नहीं की जाती।

52 वर्षीय कर्मी लाशॉन का कहना है कि एक बार जब वह बाथरूम गईं तो सिंक में बाल और शरीर के टुकड़े पड़े हुए थे। यूनियन का आरोप है कि लाशों के साथ ऐसी बदसलूकी सालों से होती आ रही है, लेकिन इस दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here