बात करीब पांच साल पुरानी है। दिल्ली के कड़कड़डूमा कोर्ट में 1 नवंबर, 2012 की आधी रात अजीबो-गरीब घटनाएं घटीं जो सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड भी हुईं।

उस रात करीब 1 बजे कोर्ट की लाइब्रेरी में एक चमकीला बुलबुला नजर आया। उसके बाद अचानक कुछ कंप्यूटर खुद ब खुद ऑन हो
गए। कुर्सियां अपने आप खिसकने लगीं और दरवाजे खुलने-बंद होने लगे…

यह सब आधी रात को हुआ। उस वक्त पूरा दफ्तर खाली था। दूसरे दिन जब लोगों ने फुटेज देखी तो कांप उठे।

 

हालांकि विशेषज्ञों ने दलील दी कि खास प्रोग्राम के इंस्टॉल किये जाने के कारण उस रात कंप्यूटर खुद ब खुद ऑन हो गए और कमरे में
इलेक्ट्रोमैग्नेटिक फील्ड के होने की वजह से बुलबुला नजर आया जो नंगी आंखों से नहीं नजर आता।

लेकिन लोगों को, यहां तक की वहां काम करने वाले कई वकीलों को यह दलील पची नहीं। अभी भी दबी जुबान में सही, लेकिन लोग
इस जगह के हॉन्टेड होने की बातें किया करते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here