आज के समय में इंसानों की उम्र पहले के समय से काफी कम हो चुकी है. अब लोग ज्यादा से ज्यादा 60 से 70 साल तक ही जी पाते हैं. ऐसे बहुत ही कम लोग हैं जो अब 80 साल की उम्र के पढ़ाव तक पहुँच पाते हैं. इसका कारण आज के समय का खान पान और रहन सहन है. आदतों के बिगड़ने के कारण लोग आए दिन किसी ना किसी बिमारी से पीड़ित होते रहते हैं. इनमे से कुछ बीमारियाँ तो ऐसी हैं, जिनके संकेत लोगों को पता ही नहीं चल पाते और वह उस बिमारी के चपेट में आकर दम तोड़ देते है. ऐसी ही एक बिमारी का नाम है प्रोस्टेट कैंसर. जानिये प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण

ये मर्दों के प्राइवेट पार्ट में पाई जाती है. दरअसल, मर्दों के लिंग में प्रोस्टेट कैंसर के सेल्स बनने शुरू हो जाते हैं जो धीरे धीरे उन्हें मौत के करीब ले जाते हैं. परन्तु अगर वक़्त रहते इस बिमारी के संकेतों को समझ और जान लिया जाए तो आप बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की जान बचा सकते हैं.

चलिए मेदांता हॉस्पिटल, दिल्ली के यूरोलॉजिस्ट डॉ. एन. पी. गुप्ता द्वारा बताए गए प्रोस्टेट कैंसर के संकेतों और उनके बचाव के तरीकों के बारे में जानते हैं.

ये हैं प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण

  • प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण : यदि आपको बार बार मूत्र आने की समस्या से जूझना पड़ रहा है और आपका शुगर लेवल भी नार्मल है तो ये आपके लिए प्रोस्टेट कैंसर का एक संकेत हो सकता है.
  •  जानिये प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण : प्रोस्टेट कैंसर के कारण कईं बार पुरुष की हड्डियों में तेज़ दर्द बना रहता है. ये दर्द भी एक प्रकार का प्रोस्टेट संकेत है.

  • प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण: इसके इलावा अगर आपको पेशाब करते समय ब्लड आ रहा है तो ये प्रोस्टेट कैंसर का मुख्य संकेत है और आपके लिए जानलेवा साबित हो सकता है.
  • प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण : अगर आपको किसी प्रकार की कमर से जुडी समस्या नही है मगर इसके बावजूद भी आपकी कमर दर्द की शिकायत बढती जा रही है तो ये प्रोस्टेट कैंसर का एक संकेत हो सकता है.

ऐसे बचे प्रोस्टेट कैंसर से 

  • हरी सब्जियां हमारी अच्छी सेहत के लिए सबसे जरूरी एवं पोषक तत्व मानी जाती हैं. हरी सब्जियों में भरपूर मात्रा में  विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं जो कि प्रोस्टेट कैंसर से हमे बचाते हैं.
  • इसके इलावा तंबाकू एवं स्मोकिंग के कारण मनुष्य शरीर में टॉक्सिन की मात्रा अधिक बढ़ जाती है जो कि आगे चलकर प्रोस्टेट कैंसर का कारण बनती है. इसलिए स्मोकिंग यानी धूम्रपान का सेवन ना करें.
  • शरीर में जरूरत से ज्यादा फैट होना भी प्रोस्टेट कैंसर का एक कारण बन जाती है. इसलिए मटन, बीफ या अन्य फैट वाला मास ना खाएं और इसकी जगह हरी सब्जियों को डायट में शामिल करें.

  • कई बार अधिक वजन भी प्रोस्टेट कैंसर का खतरा बढ़ा देते हैं. इसलिए रोजाना सुबह उठकर 30 मिनट के लिए मॉर्निंग वॉक या फिर एक्सरसाइज करें.
  • फास्ट फूड जैसे कि नूडल्स, बर्गर, पिज़्ज़ा आदि बॉडी में फैट की मात्रा बढ़ाते हैं. इसलिए इन चीजों की जगह आप ओट्स, उपमा, दलिया आदि ऐसे हेल्दी चीजें खाएं.
  • फलों में एंटीआक्सीडेंट सौरमंडल की मात्रा मौजूद रहती है जो प्रोस्टेट ग्लैंड को बढ़ने से रोकते हैं इसलिए रोजाना कम से कम 2 फ्रूट्स अवश्य खाएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here