गर्भवती महिलाओं को खान-पान का बहुत ध्यान रखना पड़ता है। प्रेंगनेंसी के समय में बहुत सी सेहतमंद चीजे खानी चाहिए तो कुछ चीजों को खाने से बचना चाहिए इससे गर्भपात का खतरा रहता है। जानिए कि प्रेंगनेंसी के समय किन चीजों से दूरी बना लेना चाहिए।

प्रेंगनेंसी में कई डॉक्टर अंडे खाने की सलाह देते हैं। लेकिन कच्चा या आधा पका अंडा बिल्कुल ना खाएं। ये नुकसान कर सकता है। इसमें बहुत सारा प्रोटीन होता है। इससे सालमोनेला इंफेक्शन होने का खतरा रहता है। इसमें बुखार, पेट में दर्द, उल्टी आदि की समस्या हो सकती है।

प्रेंगनेंसी के समय एक ग्लास दूध रोजाना पीना चाहिए ऐसा कई डॉक्टर सलाह देते हैं लेकिन ध्यान दें कि ऐसा दूध ना पिएं जो पाश्चुराइज ना हो। बिना पाश्चुराइज किेए होए दूध से बनी कोई चीज ना खाएं तो बेहतर होगा। इससे लिस्टेरियोसिस बैक्टीरिया होने का खतरा रहता है। गर्भवाती महिला में इस बैक्टीरिया से 20 गुना ज्यादा खतरा होता है।

द हैल्थ साइट की एक खबर के मुताबिक आधा पका सीफूड यानि मछली भी गर्भ के लिए नुकसानदायक हो सकता है। इसे खाने से पहले इस बात का ध्यान रखें कि मछली अच्छे से पकी है या नहीं। कई सारी मछलियों में मरकरी की मात्रा काफी होती है जिससे बच्चे के दिमाग पर असर हो सकता है।

कच्ची सब्जियां और अंकुरित सलाद आदि भी खाने से बचें। वैसे तो सेहत के लिए ये सबसे बेहतर चीजों में से एक लेकिन सब्जियों का बहुत ज्यादा देर तक बाहर ना रखें। बाहर रखने से इसमें बैक्टीरिया पनप सकते हैं जिससे फूड पॉइजन हो सकता है।

कई शोध बताते हैं कि कोल्ड ड्रिंक्स मां और उसके गर्भ दोनों को नुकसान करता है। बेहतर है कि प्रेंगनेंसी में इससे दूरी बना लें।

बचे हुए खाने से भी बचें। रात को बचे खाने को खाने से गैस की समस्या हो सकती है तो इसलिए प्रेंगनेंसी के समय ताजा बना भोजन ही करें।

एक शोध में सामने आया है कि चाइनीज खाने में बहुत ज्यादा सोडियम और एमएसजी होता है जो गर्भ के सही विकास को अवरुध कर सकता है। साथ ही जन्म के बाद बच्चे के वजन को प्रभावित करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here